फेसबुक पर बनने चला हीरो...लेकिन बन गया जीरो..

जैसे कि आप सभी लोग जानते है कि सोशल मिडिया आज हम लोगों की जरुरत बन चुका है इसके माध्यम से अन्याय, भ्रष्टाचार जैसे दीमक से काफी हद तक राहत पाते है।

इसी बात का फायदा उठाते हुऐ उत्तर प्रदेश के एक प्रसिद्ध जिले में विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) नें फेसबुक पर हीरों बनने एवं प्रसिद्धि पाने  हेतू एक पोस्ट कर दी । उस पोस्ट का उद्देश्य अधिक से अधिक प्रसिद्धि पाना था और फेसबुक दोस्तो के सामने स्वंय को हीरो बनाने था।

उस पोस्ट में उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के एम एस टी  काउन्टर संचालक के खिलाफ अभद्र टिप्णी की ।

मामला इस प्रकार था कि विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) अपनी एम एस टी रिचार्ज कराने डिपो के एम एस टी काउन्टर पर गया परन्तु वहा नेट कनेक्टविटी नही थी जिस कारण एम एस टी काउन्टर संचालक द्वारा कहा गया कि आपका रिजार्ज नेट कनेक्टविटी होने के कारण अभी नही हो सकता जिसे सुनकर विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) गुस्से में आ गया और एम एस टी काउन्टर संचालक से अभद्रता से बात करने लगा और कहने लगा कि तुम्हारा ये रोज रोज का ड्रामा है तुम्हे में दैख लूगा  और एम एस टी काउन्टर संचालक का अपने मोबाईल से फोटो ले लिया । इस बीच वहा कुछ स्टाफ के व्यक्ति आ गये जिससे विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) ने वहा से चले जाने में ही अपनी भलाई समझी।

विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) ने  एम एस टी काउन्टर संचालक के खिलाफ मोबाईल से लिये गये फोटो के साथ फेसबुक पर उल्टी सीधी बाते लिखी जिसे पढकर प्रतीत होता है कि विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) ने भ्रष्टाचार के प्रति आवाज बुलंद की है इस पोस्ट को पढकर कोई विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) की तारीफ कर रहा है तो कोई एम एस टी काउन्टर संचालक को बुरा भला कह रहा है।

फेसबुक पर पोस्ट इस प्रकार थी...

EKYTH टीम ने उक्त मामले की जाचँ की तो तब मामला समझ में आया कि विकास कुमार (परिवर्तित नाम) के द्वारा जो भी पोस्ट की गई है वह बिल्कुल झुटी व निराधार है इस पोस्ट का मकसद केवल अपनी एम एस टी रिचार्ज ने होने के कारण एम एस टी काउन्टर संचालक को बदनाम करने का माध्यम था। जिस दिन का यह प्रकरण था उस दिन वास्तव में नेट सही नही चल पा रहा था। जिस कारण ऍम एस टी में रिचार्ज नही हो पा रहा था।

एम एस टी काउन्टर संचालक विवाहित है और  लगभग पिछले 4 चार साल से उक्त  एम एस टी काउन्टर पर पूर्ण इमानदारी से कॉन्ट्रैक्ट बेस पर कार्यरत  है उसका व्यवहार इतना शालीन है कि उसके व्यवहार से वहा के कर्मचारी बहुत प्रभावित है । उसके खिलाफ आज तक कोई शिकायत नही आयी है।

जैसे ही एम एस टी काउन्टर संचालक को अपने करीबियों के माध्यम से चला कि उसके फोटो के साथ उल्टी सीधी पोस्ट विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) नें अपने फेसबुक अकाउंट पर  कर रखी है काउन्टर संचालक को बहुत दुखः हुआ उसने जो वर्षों से अपना मान सम्मान बना के रखा था सब कुछ खत्म सा लगने लगा उस पोस्ट पर काउन्टर संचालक कर्मचारी के खिलाफ भद्दी कमेंटस आने लगे ।

काउन्टर संचालक ने अपना अपमान न सहन करते हुए उक्त पोस्ट की शिकायत जिले के डी0 एम0 महोदय को करने की ठान ली और शिकायत पत्र लेकर डी0 एम0 महोदय के पास गये।

उक्त शिकायत की जाचं के उपरान्त डी0एम0 महोदय ने पोस्ट डालने वाले विकास कुमार (परिवर्तित नाम) के खिलाफ उपयुक्त कार्यवाही की और इस प्रकार काउन्टर संचालक को न्याय मिला तथा काउन्टर संचालक को अपना खोया सम्मान वापस मिल गया।

और इस प्रकार विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) हीरो बनने के चक्कर में जीरों बन गया।

 

          नोट- हमारी यह पोस्ट तथ्यों पर आधारित है जिससे यह पता चलता है कि प्रत्येक सरकारी कर्मचारी भ्रष्ट नही होता है

कुछ सरकारी कर्मचारी अकारण ही  विकास कुमार  (परिवर्तित नाम) जैसे ध्रुर्तो की वजह से बदनाम हो जाते है।

औऱ कुछ ध्रुर्त व्यक्ति बिना प्रकरण को जाने और जो उनको बताया गया है केवल उस पर विश्वास करके उल्टी सीधी कमेंट भी कर देते है वे कभी ये जानने की कोशिश नही करते है कि आखिर क्या सत्यता है।

आपकों हमारी पोस्ट कैसी लगी कृप्या अपने विचार कमेंट बाक्स में लिखे.......

                                                                                                             सधन्यवाद..

Comments

  1. अभी कानून व्यवस्था बनी हुई है।

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

EXPECTED DATE AND CUT OFF ASI (CLERK) AND CO

सफलता के प्रयास का सही समय ......

UP POLICE ASI (CLERK) EXPECTED CUT OFF